Monday, May 12, 2014

Happy Mother's Day






सारी ज़िदगी है दर्द भरी
हर दर्द में मुँह से निकलता है
माँ
हर संकट से बचाया 
दुनिया से बचा कर
अपने आंचल में छुपाया
माँ
तुम मेरी जननी
तुम्हारे लिये मेरा
एक दिन नही
पूरा जीवन है
माँ
आज हज़ारो मील
दूर हूँ तुम से
लेकिन अब भी
मेरी साँस मे घुली हो 
माँ
कैसे आउं मिलने
आंखे बंद करती हूँ
ओर महसूस कर लेती हूँ
माथे पर हाथ तुम्हारा
माँ
..........रमा HAPPY MOTHER's Day 

2 comments:

  1. माँ
    कैसे आउं मिलने
    आंखे बंद करती हूँ
    ओर महसूस कर लेती हूँ
    माथे पर हाथ तुम्हारा
    माँ
    bahut hi sunder
    badhai
    rachana

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक आभार रचना बहन

      Delete