Thursday, August 14, 2014

आज़ादी मना लो

आज़ाद देश की गुलाम नारियों
जागो
स्वतंत्रता दिवस है
एक दिन के लिए ही सही
तुम भी
आज़ादी मना लो
रोज़ गुलामी करती हो
सब की
आज मत सुनना
किसी की
आज स्वतंत्रता दिवस है
ये बता दो
आज बस एक दिन
आज़ादी मना लो
मत डरना
आज किसी भी शैतान से
याद करना
झांसी की रानी को
और अपनी आज़ादी मना लो
बस एक दिन
आज़ादी मना लो

10 comments:

  1. आपकी लिखी रचना शनिवार 16 अगस्त 2014 को लिंक की जाएगी........
    http://nayi-purani-halchal.blogspot.in आप भी आइएगा ....धन्यवाद!

    ReplyDelete
  2. वाह... बेहतरीन

    ReplyDelete
  3. सुंदर रचना

    ReplyDelete
  4. सुंदर रचना...वाह...

    ReplyDelete
  5. बस् एक दिन :)

    सुन्दर रचना

    ReplyDelete