Wednesday, March 21, 2012

नाखून

किसी ने मुझ से कहा

कि् नूह (बहू) तो बस ऐक नाखून की तरह है

उसकी हैसियत बस इतनी ही है घर मे

तो मेरे मन मे आया

कि् अगर आप उसकी हैसियत नाखून से मापते हैं

तो वो फिर आपके शरीर का

आपके घर का

ऐक अभिन्न हिस्सा बन गई

और आपको तो पता भी ना चला

नाखून से मास कभी अलग नही होता

ये आपको याद ही ना रहा !!!!!!!!!!!

7 comments:

  1. बहुत सुन्दर .....सच है नाख़ून कब मांस से अलग होता है और होता भी है तो कितनी तकलीफ होती है

    ReplyDelete
    Replies
    1. dhanwad Upasna sakhi...aap sada hi protsahit karti hain mujhe....

      Delete
  2. Replies
    1. धन्यवाद महेंद्र जी...

      Delete
  3. naakhun ko savaar ke rakhne se sundar dikhti hai.. nahin to septic bhi kara sakte hai....

    ReplyDelete
    Replies
    1. सटीक टिप्पणी.... धन्यवाद

      Delete
  4. naakhun ke bina aapke shareer ki koi shobha nahi....
    na hi bahu ke bina ghar ki.....
    Atyant sundar varnan.....

    ReplyDelete